हिमनद किसे कहते हैं?

हिमनद किसे कहते हैं?

हिमनद किसे कहते हैं? : हिमनद (हिमानी Glacier) बड़े बड़े हिमखंडों को जो अपने ही भार के कारण नीचे की ओर खिसकते रहते हैं, हिमनद या हिमानी कहते हैं। नदी और हिमनद में इतना अंतर है कि नदी में जल ढाल की ओर बहता है और हिमनद में हिम नीचे की ओर खिसकता है।

हिमनद किसे कहते हैं?

नदी की तुलना में हिमनद की प्रवाहगति बड़ी मंद होती है। यहाँ तक लोगों की धारणा थी कि हिमनद अपने स्थान पर स्थिर रहता है। हिमनद के बीच का भाग पार्श्वभागों (किनारों) की अपेक्षा तथा ऊपर का भाग तली की अपेक्षा अधिक गति से आगे बढ़ता है। हिमनद साधारणत: एक दिन रात में चार पाँच इंच आगे बढ़ता है। पर भिन्न भिन्न हिमनदों की गति भिन्न होती है।

अलास्का और ग्रीनलैंड के हिमनद 24 घंटे में 12 मी से भी अधिक गति से आगे बढ़ते हैं। हिमप्रवाह की गति हिम की मात्रा और उसके विस्तार मार्ग की ढाल एवं ताप पर निर्भर करती है। बड़े हिमनद छोटे हिमनदों की अपेक्षा अधिक तीव्र गति से बहते हैं। हिमनदों का मार्ग जितना अधिक ढालू होगा उतनी ही अधिक उसकी गति होगी। हिमनद का प्रवाह ताप के घटने बढ़ने पर भी निर्भर करता है। ताप अधिक होने पर हिम शीघ्र पिघलता है और हिमनद वेग से आगे बढ़ता है। यही कारण है कि ग्रीष्म ऋतु में हिमनदों की प्रवाहगति बढ़ जाती है।

 हिमनदों के प्रकार :

1 – दरी हिमानियाँ,

2 – प्रपाती हिमानियाँ,

3 – गिरिपाद हिमानियाँ,

4 – हिमाटोप,

5 – हिमस्तर।

 

विश्व का सबसे बड़ा हिमनद

विश्व का सबसे बड़ा ग्लेशियर सियाचिन हिमानी या सियाचिन ग्लेशियर विश्व का सबसे बड़ा ग्लेशियर है यह हिमालय की काराकोरम पर्वतमाला में भारत पाक नियंत्रण रेखा के लगभग स्थित हिमानी (ग्लेशियर) है

बियाफो हिमनद पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर के गिलगित बलिस्तान क्षेत्र में काराकोरम पर्वत श्रेणी पर स्थित (67 कि॰मी॰ लम्बा) हिमनद है। यह हिस्पर ला दर्रे के समीप हिस्पर हिमनद (49 कि॰मी॰ लम्बा) से मिलकर विश्व का सबसे लम्बा गैर ध्रुवीय (अल्पाइन) हिमनद तंत्र बनाता है।

बियाफो हिमनद ताजिकिस्तान के फशेंको हिमनद (77 कि॰मी॰) और सियाचिन हिमनद (70 कि॰मी॰) के बाद ध्रुवीय क्षेत्र के बाहर विश्व का तीसरा सबसे बड़ा हिमनद है।

भारत में सबसे बड़ा हिमनद कौन सा है?

सियाचिन हिमनद ध्रुवीय क्षेत्र के बाहर विश्व का दूसरा सबसे लम्बा अल्पाइन हिमनद है और हिमालय-काराकोरम क्षेत्र का सबसे लम्बा हिमनद है

हिमनद के कार्य

हिमनद (अंग्रेज़ी: Glacier) बड़े बड़े हिमखंडों को कहते हैं जो अपने ही भार के कारण नीचे की ओर खिसकते रहते हैं। इन्हें हिमानी भी कहते हैं। नदी और हिमनद में इतना अंतर है कि नदी में जल ढलान की ओर बहता है और हिमनद में हिम नीचे की ओर खिसकता है। हिमनद बर्फ़ का एक विशाल संग्रह होता है, जो निम्न भूमि की ओर धीरे-धीरे बढ़ता है। ये तीन तरह के होते हैं- गिरिपद हिमनद, महाद्वीपीय हिमनद तथा घाटी हिमनद। नदी की तरह से हिमनद भी अपरदन, परिवहन और निक्षेपण का कार्य करते हैं। अपरदन के अंतर्गत यह उत्पादन, अपकर्षण और प्रसर्पण का कार्य करते हैं।

हिमनद हिमोढ़ का निर्माण कैसे करते हैं

हिमनद अपने साथ लाए गए अवसादों को अपने किनारों पर छोड़ता जाता है, जिसे हिमोढ़ कहा जाता है। हिमानी की निक्षेपात्मक स्थलरुपों में सर्वाधिक महत्वपूर्ण होते हैं। हिमोढ़, हिमनद टिल (Till) या गोलाश्मी मृत्तिका के जमाव की लंबी कटकें हैं। अंतस्थ हिमोढ़ (Terminal moraines) हिमनद के अंतिम भाग में मलबे के निक्षेप से बनी लंबी कटकें हैं। पार्श्विक हिमोढ़ (Lateral moraines) हिमनद घाटी की दीवार के समानांतर निर्मित होते हैं। पार्श्विक हिमोढ़ अंतस्थ हिमोढ़ से मिलकर घोड़े की नाल या अर्धचंद्राकार कटक का निर्माण करते हैं। हिमनद घाटी के दोनों ओर अत्यधिक मात्रा में पार्श्विक हिमोढ़ पाए जाते हैं।

इस हिमोढ़ की उत्पत्ति पूर्णतया आंशिक रूप से हिमानी-जल द्वारा होती है; जो इस जलोढ़ को हिमनद के किनारों पर धकेलती है। कुछ घाटी हिमनद तेजी से पिघलने पर घाटी तल पर हिमनद टिल को एक परत के रूप में व्यवस्थित रूप से छोड़ देते हैं। ऐसे व्यवस्थित व भिन्न मोटाई के निक्षेप तलीय या तलस्थ (Ground) हिमोढ़ कहलाते हैं। घाटी के मध्य में पार्श्विक हिमोढ़ के साथ-साथ हिमोढ़ मिलते हैं जिन्हें मध्यस्थ (Medial) हिमोढ़ कहते हैं। ये पार्श्विक हिमोढ़ की अपेक्षा कम स्पष्ट होते हैं। कभी-कभी मध्यस्थ हिमोढ़ व तलस्थ के अंतर को पहचानना कठिन होता है।

भारत के प्रमुख हिमनद

(जम्मू और कश्मीर)

नून कुन पठार

पराक्चिक

दरांग दुरुंग हिमनद

सियाचिन हिमनद ध्रुवीय क्षेत्र के बाहर विश्व का दूसरा सबसे लम्बा अल्पाइन हिमनद है और हिमालय-काराकोरम क्षेत्र का सबसे लम्बा हिमनद है

नुब्रा हिमनद

चोंग हिमनद

रीमो हिमनद

हरि पर्बत हिमनद

नून कुन हिमनद

(हिमाचल प्रदेश)

व्यास कुण्ड हिमनद

चन्द्र हिमनद

चन्द्र नाहन हिमनद

भादल हिमनद

भागा हिमनद

दक्का हिमनद

उत्तर दाक्का हिमनद

गोरा हिमनद

किलौंग हिमनद

मियार हिमनद

मुक्किला हिमनद

पारबती और दूधों हिमनद

परद हिमनद

सोनापानी हिमनद

(सिक्किम)

जेमू हिमनद

राथोंग हिमनद

लोनक हिमनद

(उत्तराखण्ड)

गोमुख, गंगोत्री हिमनद का हिमान्त

गंगोत्री हिमनद

कालाबलंद हिमनद

मेओला हिमनद

मिलाम हिमनद

नामिक हिमनद

पंचचुल्ली हिमनद

पिण्डारी हिमनद

रालम हिमनद

सोना हिमनद

काफनी हिमनद

सुन्दर ढूंगा

जौंधर हिमनद

ग्रेटर हिमालय मे ससाइमी (158किमी), सियाचीन (72किमी),

 

Read it also  : मेडिकल टूरिज्म इन वर्ल्ड इन हिंदी

1 thought on “हिमनद किसे कहते हैं?”

Leave a Comment